blogid : 7002 postid : 189

टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम की भारी दुर्दशा की क्या वजह है?

Posted On: 19 Jan, 2012 sports mail में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

विदेशी धरती पर भारतीय टीम यूं तो हमेशा ही प्रदर्शन में उन्नीस ही रहती है लेकिन पिछली दो सीरीज ने टीम इंडिया पर सवालों का पहाड़ खड़ा कर दिया है. पहले इंग्लैण्ड में बुरी तरह हार और अब आस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज हारकर भारतीय टीम ने आलोचकों को बोलने का पूरा मौका दे दिया है. पहले जब भारतीय टीम हारती थी तो उतना दुख नहीं होता था लेकिन अब जब एक विश्व कप विजेता चैंपियन टीम हारती है तो दिल को अधिक ठेस पहुंचता है.


Senoir Players of indiaभारतीय टीम का ऐसा प्रदर्शन हाल के सालों में पहले कभी नहीं हुआ था. भारत ने इससे पहले साल 2008 और 2009 में भी कई टेस्ट श्रृंखलाएं खेली थीं और उनमें बेहतरीन प्रदर्शन किया था. साल 2010 में तो वह टेस्ट मैचों का बादशाह भी बना लेकिन साल 2011 आते-आते सब बदल गया. इंग्लैण्ड में करारी हार और फिर अपनी धरती पर भी जीत के लिए जान लगाने के बाद आस्ट्रेलिया के खिलाफ दुबारा हार ने भारत की पुरानी शान पर बदनुमा दाग लगा दिया है.


इस दुर्दशा की वजह कुछ सीनियर खिलाड़ी आईपीएल की चकाचौंध को मान रहे हैं जिसकी वजह से खिलाड़ी खेल के प्रति कम ध्यान देते हैं और ग्लैमर की तरफ ज्यादा भागते हैं. हाल के दिनों में भारतीय युवा खिलाड़ियों के अंदर मेहनत और लगन की कमी की मुख्य वजह आईपीएल को ही माना जाता है. साथ ही टीम में उम्रदराज खिलाड़ियों का खराब फॉर्म भी चिंता का विषय है. अगर सचिन, द्रविड़ और लक्ष्मण की जगह नए खिलाड़ियों को मौका दिया जाए तो शायद आने वाले साल टेस्ट क्रिकेट के लिए बेहतर हो सकते हैं.


साथ ही टेस्ट मैचों में भारत की इस दुर्दशा की मुख्य वजह विज्ञापनों को भी माना जा रहा है. विज्ञापन तो बहुत पहले से भारतीय क्रिकेट टीम की हालत बिगाड़ने के दोषी रहे हैं. चाहे धोनी हों या युवराज सभी विज्ञापन की शूटिंग और पैसे कमाने में व्यस्त रहते हैं. प्रैक्टिस की याद अब खिलाड़ियों को सिर्फ मैच से पहले ही आती है.


भारतीय क्रिकेट टीम की इस हालत के बारे में आप क्या सोचते हैं? नीचे दिए गए कारणों में से कौन सी वजह है जिससे भारतीय क्रिकेट टीम टेस्ट मैचों में फ्लॉप हो रही है?


1. आईपीएल की मौज-मस्ती

2. उम्रदराज खिलाड़ियों का टीम में होना

3. लगन और मेहनत की कमी

4. नए कोच डंकन फ्लेचर का सहयोग ना मिलना

5. विज्ञापनों की तरफ रुझान

6. टीम में मतभेद


अपनी राय जाहिर करने के लिए आप कमेंट बॉक्स का या अपने ब्लॉग का इस्तेमाल कर सकते हैं.


| NEXT



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (8 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

rahulpriyadarshi के द्वारा
January 19, 2012
shaktisingh के द्वारा
January 19, 2012

वजह इतनी है कि गिनना भी मुश्किल हो जाए. यह वजह आज से नहीं है उस समय से है जब से भारत क्रिकेट खेल रहा है. भारत क्रिकेट के किसी भी फोरमेट में अपने आप साबित नहीं कर पाया है. थोड़ा सा पैसा क्या आ जाता है खिलाडियों के पास वह अपने आप को डॉन ब्रेडमेन समझने लगते है. बेहतर लेख

Shyam के द्वारा
January 19, 2012

टेस्ट क्रिकेट में भारत की ऐसी हार किसी एक वजह है नहीं है बल्कि कई कारणों की वजह से है जब से नए कोच फ्लेचर आए हैं उन्होंने टीम का कबाड़ा करके रख दिया है. जो काम कोच गैरी करके गए थे उसपर पानी फेर दिया है. धोनी नए खिलाड़ियों और चापलूसी करने वालों को टीम में हमेशा जगह देने की फिराक में रहता है जिसकी वजह से कुछ सीनियर प्लेयर उससे नाराज है. टीम में मतभेद एकता को खत्म कर रही है.


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran