blogid : 7002 postid : 295

धोनी की टेस्ट कप्तानी पर सवालिया निशान !!

Posted On: 30 May, 2012 sports mail में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

dhoni gambhirगौतम गंभीर की कप्तानी में कोलकाता नाइटराइडर्स ने जैसे ही इंडियन प्रीमियर लीग के पांचवें संस्करण का खिताब अपने नाम किया तब से भारतीय क्रिकेट को लेकर कयासों का बाजार गर्म होने लगा. भारत के ओपनर गौतम गंभीर को टेस्ट क्रिकेट जैसे बड़े फॉर्मेट के लिए कप्तानी सौंपे जाने की बात कही जाने लगी. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स के चैंपियन बनते ही महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी को लेकर पुरानी बहस नए सिरे से छेड़ दी. उन्होंने गौतम गंभीर को टेस्ट टीम की कप्तानी सौंपने का जोरदार समर्थन करते हुए कहा कि चयनकर्ताओं को इस बारे में सोचना चाहिए.


जिस तरह आज धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया टेस्ट फॉर्मेट में प्रदर्शन कर रही है उससे तो धोनी के ऊपर कई सारे सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं. उन्हें टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने की बात कही जाने लगी. उन पर आरोप लगाए जाने लगे कि वह ब्रांड के पीछे भाग रहे हैं और क्रिकेट की ओर कम ध्यान दे रहे हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि धोनी वास्तव में टेस्ट की कप्तानी के लिए उपयुक्त हैं या नहीं हैं?


हमें नहीं भूलना चाहिए कि धोनी की ही कप्तानी में भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम दिसंबर 2009 में आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर पहुंच गई थी. जिस परिस्थिति में महेन्द्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी सभांली उस समय उन्हें एक बेहतर कप्तान माना जाने लगा. अपनी अदम्य प्रतिभा की बदौलत धोनी ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में अपनी काबलियत दिखाई और कप्तान का पद हासिल किया.


बांग्लादेश के खिलाफ 2004 में क्रिकेट की दुनिया में प्रदार्पण करने वाले धोनी ने सफलता का स्वाद बहुत ही जल्दी चखा. पहले टी-20 फिर वनडे और उसके बाद टेस्ट में कप्तानी हासिल करने वाले धोनी ने दुनिया को दिखा दिया कि उनसे बेहतर नेतृत्व करने वाला खिलाड़ी और कोई नहीं है. वह समय दर समय लगातार सफलता की सीढ़ियां चढ़ने लगे लेकिन उनसे पहले के खिलाड़ी टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए आज भी संघर्ष कर रहे हैं.


उनकी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम 2007 में टी-20 की पहली चैम्पियन बनी, फिर वह दौर आया जिसका इंतजार हर भारतीय को था जब उन्होंने 2011 में वनडे वर्ड कप का खिताब अपने नाम किया. कप्तान के तौर पर धोनी एक सफल खिलाड़ी हैं. उनकी कप्तानी में टीम ने लगातार कई सीरिज भी अपने नाम किया. कप्तानी के मामले में गौतम गंभीर भी एक सफल खिलाड़ी हैं और उनको जब भी कप्तानी करने का मौका मिला है उन्होंने बेहतर खेल दिखाया है. ऐसे में बैटिंग और कप्तानी के मामले में गिरता प्रदर्शन धोनी के लिए खतरे की घंटी का संकेत देती है.


mahendra singh dhoni, test cricket, Former Indian skipper Sourav Ganguly, Kolkata Knight Riders, Gautam Gambhir



Tags:             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran