blogid : 7002 postid : 409

सचिन, संन्यास और बाजार

Posted On: 8 Dec, 2012 sports mail में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

sachin tendulkarपिछले कुछ महीनों से भारत के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. इसकी मुख्य वजह है सचिन का क्रिकेट के पिच पर लगातार फेल होना. अगर बात करें सचिन के आंकड़ों की और कोलकाता में खेले जा रहे टेस्ट को छोड़ दिए जाए तो यह स्टार बल्लेबाज भले ही टेस्ट में 54.60 रन प्रति पारी का औसत रखता हो लेकिन पिछले दो सालों में किसी भी समय 40 के औसत के पार भी नहीं पहुंचा. सचिन ने अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन न करके अपने चाहने वालों को काफी निराश किया है.


Read: जानिए रेपो और रिवर्स रेपो रेट


सचिन का यह खराब प्रदर्शन केवल मैदान के पिच पर ही देखने को नहीं मिला बल्कि इसका प्रभाव विज्ञापन पर भी दिखा. जब से सचिन का बल्ला शांत है तब से उन्हें मिलने वाले विज्ञापन भी धीरे-धीरे कम होते जा रहे हैं. सचिन के साथ  17 ब्रांडों का करार है जिनमें कोका-कोला, रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैण्ड (आरबीएस), अवीवा लाइफ इंश्योरेंस, आईटीसी, केनन, तोशीबा, एस कुमार्स नेशनवाइड (एस के एन), अमित एण्टरप्राइजेज, स्विट्जरलैण्ड के लक्जरी घड़ी-निर्माता आडीमार्स पिगुएट और एडिडास शामिल हैं.


इन ब्रांडों में से आधे ने पिछले 4-5 महीनों में कोई ऐसा टेलीविजन कमर्शल विज्ञापन ऑन एयर नहीं किया जिसमें सचिन हैं. इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक सचिन के कई विज्ञापन टीवी पर पिछले छह महीने से नहीं दिख रहे हैं. अवीवा लाइफ इंश्योरेंस के विज्ञापन में सचिन आखिरी बार इस साल मार्च में दिखे थे वहीं एडिडास के विज्ञापन में सचिन मई के बाद दिखे ही नहीं. जिन ब्रांडों में सचिन नहीं उसमें कोका कोला और बिस्कुट कंपनी आईटीसी जैसी कंपनियां भी शामिल हैं. इसके अलावा कैनन इस साल करार खत्म होने के बाद सचिन के साथ आगे करार नहीं करना चाहता.


Read: हम हैं सबसे बड़े भ्रष्टाचारी


सचिन के विज्ञापनों में न दिखने से पता चलता है कि वह अब विज्ञापनदाताओं के लिए वह आइकॉन नहीं रहे जिसके जरिए कंपनियां लाखों-करोड़ों रुपए छापती रही हैं. जिस तरह से पिछले कुछ महीनों से मीडिया में सचिन के संन्यास को लेकर माहौल बना है, क्रिकेट के कई बड़े जानकार सचिन के संन्यास को लेकर बातें कर रहे हैं उसके बाद से कंपनियां पूरी तरह से सचेत हो चुकी हैं. ये नहीं चाहतीं कि वह किसी ऐसे खिलाड़ी से करार करें जो एक तो अपनी क्षमता के अनुरुप प्रदर्शन नहीं कर रहा है दूसरे जिस पर संन्यास को लेकर तलवार लटक रही है. वहीं कुछ यह भी मानते हैं कि विज्ञापन स्क्रीन से सचिन के गायब होने का संन्यास या उनके खराब प्रदर्शन से कोई लेना-देना नहीं है.


Read: इस रिकॉर्ड के आगे सचिन भी कहीं नहीं टिकते


Tag: sachin tendulkar, Legendary Sportsman, television ads, Tendulkar, Brand marketers,  TV commercials, cricket field,सचिन तेंदुलकर, सन्यास, एड डील, वर्ल्ड स्पोर्ट, ब्रांड, तोशिबा




Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran