blogid : 7002 postid : 604

जेल से बाहर आए ‘स्पॉट फिक्सर’

Posted On: 4 Jun, 2013 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अभी कुछ ही दिनों की बात थी जब मुंबई की एक अदालत ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में गिरफ्तार किए गए अभिनेता विंदू दारा सिंह और एन श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन को 14 जून तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था. तब यह लगा था कि इन दोनों पर धीरे-धीरे अदालत और पुलिस द्वारा शिकंजा कसा जा रहा है लेकिन आज अदालत ने जिस तरह से इन दोनों आरोपियों को सशर्त जमानत दी है उससे इन्हें अपने खिलाफ सबूत मिटाने का मौका मिल गया है.


अदालत ने स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी गुरुनाथ मयप्पन और विंदू दारा सिंह के लिए 25-25 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत मंजूर करते हुए अदालत ने इन्हें देश छोड़ने पर रोक लगा दी है और उनके पासपोर्ट जमा करा लिए गए हैं. अदालत ने फिक्सिंग से जुड़े आठ आरोपियों को भी सशर्त जमानत दे दी है. जमानत पाने वालों में प्रेम तरनेजा, अल्पेश पटेल, नीरज शाह, अशोक व्यास, रमेश व्यास तथा पांडुरंग कदम शामिल हैं. मुंबई कोर्ट ने इन सभी को हफ्ते में हर दूसरे दिन क्राइम ब्रांच के समक्ष हाजिरी भी देने को कहा.


मुंबई पुलिस की विफलता

गुरुनाथ मयप्पन और विंदू दारा सिंह के खिलाफ तमाम तरह के खुलासे और सबूतों का दावा करने वाली मुंबई पुलिस कोर्ट में सट्टेबाजी के अलावा स्पॉट फिक्सिंग के मामले को भी साबित नहीं कर पाई. जमानत देते समय कोर्ट ने मुंबई पुलिस की इस दलील को नहीं माना कि ये सभी सबूतों के साथ छेड़छाड़ कर सकते हैं.


क्या है मामला ?

गौरतलब है कि आईपीएल 6 में स्पॉट फिक्सिंग का मामला सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस ने स्पॉट फ़िक्सिंग के आरोप में आईपीएल की टीम राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों श्रीसंत, अंकित चव्हाण और अजीत चंडीला को 16 मई को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद सट्टेबाजों के साथ संबंधों के आरोप में 22 मई को अभिनेता व टीवी रिएलिटी शो के विजेता विंदू दारा सिंह को गिरफ्तार किया गया था. पूछताछ में विंदू ने आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक गुरुनाथ मयप्पन का नाम लिया था जिसके बाद उसे भी 25 मई को गिरफ्तार किया गया.


खेल में स्पॉट फिक्सिंग करने वाले इन सटोरियों को जिस तरह से जमानत दी गई उससे तो साफ है कि कोई ऐसा है जो इस मामले को आगे बढ़ने नहीं देना चाहता. इनके जमानत के बाद जहन में जो सवाल उठ रहे हैं कि क्या स्पॉट फिक्सिंग की वास्तविक जांच हो पाएगी, क्या पुलिस के हाथ कभी असली गुनाहगारों के गिरेबान तक पहुंच पाएंगे?


Tags: spot fixing, spot fixing ipl, : Vindu Dara Singh, Gurunath Meiyappan, granted bail, Chennai Super Kings, आईपीएल, खेल.



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

4 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

www.nebburblog.com के द्वारा
June 6, 2013
harendra rawat के द्वारा
June 4, 2013

जब तक बीसीसीई अध्यक्ष (नाम मात्र को कुर्सी से नीचे) श्री निवासन को निकाल बाहर नहीं किया जाता, तब तक मुम्बई पुलिस, जांच एजेंसीज न तो इनके दामाद का कुछ बिगाड़ सकेंगी न बिदु दारासिंह का ! बिन्दु दारासिंह एक एक्टर है और उसने अपने बचाव में गुरुनाथ मय्यपन को साथ मिला लिया ! ये मय्यपन अपने ससुर जी के ऊंचे कद के बल पर कूद रहा था और खूब फिक्सिंग कर रहा था, बीसीसीई सब देख रही थी लेकिन श्री निवासन के प्रभाव के आगे खून के आंसू पी रही थी ! अगर सरकार, और भारतीय क्रिकेट संगठन इमानदारी से खेल प्रेमियों के विश्वास को बनाए रखना है तो सबसे पहले श्री निवासन को संगठन से ही निष्कासित कर दिया जाना चाहिए, बिन्दु दारासिंह और गुरुनाथ मय्यपन को वापिस जेल में डाल दो, सारी सच्चाई बाहर आ जाएगी, और क्रिकेट के महासागर में गोता लगाने वाली भारी भरकम गंदी मच्छलियाँ तड़प तड़प कर अपने आप बाहर आजाएगी अफराधियों को सजा मिल जाएगी !

ravi के द्वारा
June 4, 2013

यह लोगों को बस धोखा दे रहे और कुछ नहीं, भारत में कभी निषपक्ष रूप से जांच कभी हुई है क्या

punitpal के द्वारा
June 4, 2013

यह भी मामला ठंड़े बस्ते में ड़ाल दिया गया हैं


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran