blogid : 7002 postid : 657968

मुझे अस्पताल ले चलो नहीं तो मैं मर जाऊंगा

Posted On: 30 Nov, 2013 Others,Sports and Cricket में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कभी मैदान पर महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के साथ जौहर देखाने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर विनोद कांबली को हार्ट अटैक आया है. जिसके बाद उन्हें मुंबई के लीलावती अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है. उनका इलाज चल रहा है. फिलहाल उनकी हालत पहले की अपेक्षा बेहतर है.


kambaliखबरों के मुताबिक शुक्रवार की सुबह 41 वर्षीय विनोद कांबली व्यस्त रोड सेंट्रल मुंबई पर गाड़ी चला रहे थे. अचानक उनके सीने में तकलीफ होने लगी. ट्रेफिक पुलिस अधिकारी के मुताबिक कांबली ने कहा कि कृपया करके मुझे अस्पताल ले चलो नहीं तो मैं मर जाउएंगा (“please take me to hospital, otherwise I will die”). इससे पहले साल 2012 में कांबली की दो रक्त वाहिनियों की एंजियोप्लास्टी की गई थी.


Read: पढ़ें: कौन हैं तरुण तेजपाल


सचिन के दोस्त

विनोद कांबाली महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के बचपन के दोस्त हैं. कांबली स्कूली क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर के साथ 664 रनों की तत्कालीन विश्व रिकॉर्ड साझेदारी के लिए जाने जाते हैं. एक तरफ कांबली सचिन को अपना बेस्ट दोस्त मानते हैं वहीं दूसरी तरफ उन्हें दगाबाज भी बनाते हैं. इसकी एक मिसाल तब देखने को मिली थी, जब उन्होंने सच का सामना जैसे भ्रामक टीवी कार्यक्रम में गए और सचिन पर ही फब्ती कस दी. उनका कहना था कि सचिन ने उनकी मदद नहीं की. हाल ही में सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने के बाद एक शानदार पार्टी का आयोजन किया था. सचिन ने विनोद कांबली को छोड़कर क्रिकेट और बॉलीवुड जगत को इस पार्टी में आने के लिए न्यौता भेजा था. जिस पर बाद में कांबली ने निराशा जाहिर की थी.


अपनी शोहरत को काबू नहीं कर पाए कांबली

विनोद कांबली एक प्रतिभाशाली स्टाइलिश बल्लेबाज थे. उन्हें टेस्ट क्रिकेट के माफिक बल्लेबाज माना जाता था. यह भी कहा जा सकता है कि उनमें महान खिलाड़ी बनने की संभावना थी. लेकिन किसी भी खेल में महान बनना सिर्फ कुदरती हुनर से नहीं होता. इसके लिए उतने ही लगन, अनुशासन और आत्मसंयम की जरूरत पड़ती है जो कहीं न कहीं विनोद विनोद कांबली में कम दिखाई देती थी. कांबली पर क्रिकेट की शोहरत का ऐसा जादू चला जिसे वह संभाल नहीं पाए और यही वजह रही जिसकी वजह से वह टीम में सचिन की तरह टिक नहीं सके.


Read: गिरफ्तारी से कितने दूर हैं तेजपाल


विनोद कांबली का कॅरियर

विनोद कांबली ने टेस्ट के अपने 17 मैच में 54.20 के शानदार औसत से 1084 रन बनाए हैं जिसमें 4 शतक और 3 अर्द्धशतक शामिल हैं. कांबली ने 104 एकदिवसीय मैच भी खेला है. उन्होंने 32.59 की औसत से 2477 रन बनाए हैं जिसमें 2 शतक और 14 अर्द्धशतक शामिल हैं.


Read more

नस्लभेदी टिप्पणियों का शिकार हुआ पूर्व क्रिकेटर

क्या फिक्स था वो जिसमें रोया था भारत



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran