blogid : 7002 postid : 809637

इस गेंदबाज को पिच पर स्टंप गिराने की बजाए बल्लेबाज का खून गिरते देखना ज्यादा पसंद था

Posted On: 28 Nov, 2014 social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

समय से पहले कोई दुनिया छोड़ दे तो कितनी पीड़ा होती है इस पीड़ा को आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फिल ह्यूज के माता पिता से बेहतर और कौन समझ सकता है जिन्होंने 25 साल के अपने बच्चे को मरते हुए देखा.


Bowling



लेकिन इनसे भी ज्यादा पीड़ा आज उस इंसान को हो रही होगी जिसने वह हत्यारी गेंद फिल ह्यूज के लिए फेंकी थी. 22 वर्षीय गेंदबाज सीन एबोट  किस मनोदसा से गुजर रहे होंगे ये उनके अलावा शायद ही कोई बता सकता है. एबोट आज खुद को एक हत्यारा गेंदबाज समझ रहे होंगे जिसने अपने दोस्त की हत्या कर दी. वह दोस्त जिसके साथ उन्होंने अपने क्रिकेटिंग कॅरियर की शुरुआत की. इस घटना के बाद वह पूरी जिंदगी खुद को मांफ नहीं कर पाएंगे.



Read: मरते-मरते भी विकेट दिला गया यह भारतीय क्रिकेटर… जानिए मैदान में क्रिकेटरों को लगे घातक चोटों के किस्से



जब फिल घायल हुए थे तो एबोट वह पहले व्यक्ति थे जिन्होंने फिल को अपनी गोद में लिया हुआ था, उस दौरान वह यही सोच रहे होंगे कि आखिर क्यों मैने ऐसी गेंद फेंकी जिससे मेरे दोस्त की जान चली गई.



Ball



सीन एबोट की तरह विश्व का कोई भी गेंदबाज यह नहीं चाहेगा कि उसकी गेंद से किसी खिलाड़ी की मौत हो जाए. यहां तक की कोई गेंदबाज यह भी नहीं चाहेगा कि उसकी गेंद से किसी खिलाड़ी को गहरी चोट आए और उसका कॅरियर तबाह हो जाए.



Read: भारतीय क्रिकेट के पहले शतकवीर


जेफ रोबर्ट थॉमसन’

लेकिन आस्ट्रेलिया का ही एक गेंदबाज जिनके बारे में कहा जाता है कि जब तक वह किसी बल्लेबाज का खून पिच पर नहीं देख लेते उन्हें स्टंप लेने में मजा नहीं आता. इस आस्ट्रेलियाई गेंदबाज का नाम है ‘जेफ रोबर्ट थॉमसन’. 160 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने वाले थॉमसन अपने कॅरियर में कई खिलाड़ियों को घायल कर चुके हैं. इन्हें अबतक का सबसे तेज गेंद फेंकने वाला गेंदबाज माना जाता है. वेस्टइंडीज के बैटिंग लेजेंड विवियन रिचर्ड्स ने भी तब माना था कि थॉमसन जैसे घातक गेंदबाज का सामना मैंने अभी तक नहीं किया है. 70 के दशक का ये वह दौर था जब थॉमसन की गेंदबाजी से बड़े-बड़े बल्लेबाज भी खौफ खा जाते थे.


thommon


उनकी यह कही गई बात आज भी कई क्रिकेटरों को याद होगी, कि “उन्हें ग्राउंड पर स्टंप गिरने की बजाए पिच पर बल्लेबाजों का खून गिरना ज्यादा पसंद आता था”


16 अगस्त 1950 में जन्में जेफ रोबर्ट थॉमसन’ ने अपने कॅरियर में 51 टेस्ट मैंच में 200 विकेट लिए हैं. उन्होंने वेस्टइंडीज के साथ खेले गए पांच मैचों की सीरिज में 22 विकेट लिए थे और टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी…… Next


Read more:

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के ड्रेसिंग रूम में जीत का फार्मूला

क्रिकेट में ग्लैमर का मिश्रण यहां से शुरू हुआ

ओलंपिक में एक मैडल पक्का, यह बच्चा अपने खेल से भारत को दिला सकता है एक पदक




Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran