blogid : 7002 postid : 883619

अविश्वसनीय गेंदबाजी केवल ग्लास के उपर रखा सिक्का ही गिरा (देखें वीडियो)

Posted On: 12 May, 2015 Others,sports mail में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

133 टेस्ट मैच में 800 और 350 वनडे में 534 विकेट लेना किसी सामान्य गेंदबाज के बस की बात नहीं है. ये वही कर सकता है जिसकी गेंदबाजी अविश्वसनीय और चमत्कारिक हो. फिरकी के जादुगर मुथैया मुरलीधरण भले ही संन्यास ले चुके हो लेकिन उनकी करिश्माई गेंदबाजी आज भी उन युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत है जो स्पिन गेंदबाजी में अपना भविष्य देखते हैं.


amazing incidents of cricket


विश्व के इस महान खिलाड़ी के बारे में ऐसा कहा जाता है कि जब वह मैदान पर होते हैं तो उनके टीम की जितने की संभावना बढ़ जाती है. श्रीलंका की तरफ से खेलने वाले मुथैया मुरलीधरण विश्व के बड़े से बड़े बल्लेबाजों को अपनी फिरकी से पानी पिला चुके हैं.


Read: कभी बल्लेबाजों के छक्के छुड़ाने वाला यह क्रिकेटर आज है बॉडी बिल्डिंग चैंपियन


64106438


उनके दौर के स्पिन गेंदबाजों में शेन वॉन, अनिल कुंबले तथा सक्लेन मुश्ताक जैसे बड़े खिलाड़ी रहे लेकिन इनकी दक्षता उन सबसे अलग थी. 43 साल का यह पूर्व गेंदबाज अपने क्रिकेटिंग कॅरियर में अब तक 3500 विकेट ले चुका है.


मुरलीधरण की अविश्वसनीय गेंदबाजी का अंदाजा आप इस वीडियो को देखकर लगा सकते हैं. इस वीडियो को देखकर आप भरोसा नहीं कर पाएंगे कि ये गेंदबाज बेहतर गेंदबाजी के लिए किस तरह से अभ्यास करता था. तीन स्टंप में से एक स्टंप पर शिशे की ग्लास को रखकर और उसके उपर एक टॉस करने वाले सिक्के को रखकर अपनी गेंद से केवल उस सिक्के को गिराना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है. लेकिन इस पूर्व गेंदबाज के लिए संभव है. आपको हम ज्यादा नहीं बताएंगे, आप स्वयं देख लीजिए…..Next


देखें वीडियो : -

YouTube Preview Image


Read more:

अगर इस भारतीय तेज गेंदबाज की सहायता न की जाती तो ये अफ्रीका के किसी देश में मजदूरी कर रहा होता

इस नेत्रहीन की फर्राटेदार क्रिकेट कमेंट्री हैरान कर देगी आपको

इस महाराजा के क्रिकेट के जुनून ने दिया पटियाला पैग को जन्म




Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran