blogid : 7002 postid : 1328265

कभी भविष्य का धोनी कहा जाता था इस क्रिकेटर को, आज IPL में भी नहीं मिल रहा मौका

Posted On: 4 May, 2017 Sports and Cricket में

Shilpi Singh

  • SocialTwist Tell-a-Friend

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी जैसा स्टाइल, वैसे ही लंबे बाल. उन्हीं के राज्य झारखंड से फर्स्ट क्लास क्रिकेट से उभरा एक सितारा अचानक ही लोगों की नजरों में आ गया. उसने धीरे से भारतीय टीम में जगह भी बना ली और उसके बाद आईपीएल में कुछ शानदार पारी की बदौलत लोगों ने दूसरा माही तक कह दिया, लेकिन ये सफर जल्द ही खत्म हो गया और सौरभ तिवारी की चमक यहीं खत्म हो गई. धोनी से तुलना तो हुई लेकिन अब ये बल्लेबाज केवल राज्य स्तर का खिलाड़ी बनकर ही रह गया है, यहां तक की आईपीएल में भी इनके दर्शन दुर्लभ हो गए हैं.


cover saurabh



11 साल की उम्र में खेलना शुरू किया क्रिकेट

सौरभ तिवारी ने 11 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया, सौरभ तिवारी बायें हाथ के बल्लेबाज हैं. झारखंड के लिए अंडर 14 खेले, 2006 में रणजी खलेना का मौका मिला. मलेशिया में अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया का हिस्सा रहे. सौरभ मिडल ऑर्डर में खेलते हैं और अब घरेलू क्रिकेट तक ही सीमित हो गए हैं.



saurabh



आईपीएल से चमकी किस्मत

आईपीएल के पहले सीजन में मुंबई इंडियंस के लिए खेले. इसी के तीसरे सीजन में लंबे बालों और धुंआधार हिटिंग के चलते उनकी भारतीय कैप्टन से तुलना की जाने लगी. 2011 में उन्हें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने बड़ी रकम चुकाकर अपनी टीम में ले लिया. मगर इसके बाद से उनकी फॉर्म और परफॉर्मेंस लगातार गिरती चली गई. 2014 में उन्हें डेल्ही डेयरडेविल्स ने खरीदा, मगर फिर उनका कंधा जख्मी हो गया और उन्हें मौका नहीं मिल पाया.



mahi



मुंबई इंडियंस के लिए खेली थी शानदार पारी

आईपीएल 2010 में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए सौरभ ने अपनी टीम के लिए सर्वाधिक 18 छक्‍के लगाए. इस सीजन में सौरभ बल्‍लेबाजी में काफी सफल रहे थे. उन्‍होंने 16 मैचों में करीब 135 के स्‍ट्राइक रेट से 419  रन बनाए थे. इसके बाद चोटों और एक हद तक खराब प्रदर्शन के कारण यह बेहतरीन खिलाड़ी राह से भटक गया. आईपीएल में सौरभ राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू और दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के लिए भी खेल चुके हैं.



saurabhh





टीम इंडिया में मौका

भारतीय टीम में उन्हें 2010 के एशिया कप के दौरान चुना गया, मगर मौका नहीं मिला. फिर उसी साल अक्टूबर में विशाखापट्टनम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में उनका डेब्यू हुआ. उन्होंने कुल तीन मैच खेले और किसी में भी खास नहीं कर पाए. इसके बाद उनका चयन कभी भारतीय टीम के लिए नहीं हो पाया.


saurabh





सौरभ अपनी पहचान बना रहे हैं

सौरभ और धोनी के बीच की समानता यहीं आकर खत्‍म हो जाती हैं. सौरभ जहां बाएं हाथ से बल्‍लेबाजी करते हैं. वहीं भारतीय क्रिकेट को लंबे समय तक सेवाएं देने वाले धोनी दाएं हाथ के बल्‍लेबाज हैं. धोनी जहां भारतीय क्रिकेट ही नहीं विश्‍व क्रिकेट में जाना पहचाना नाम हैं, वही सौरभ अपनी पहचान बनाने के लिए अभी संघर्ष कर रहे हैं….Next




Read More:

21 गेंदों में 50 रन की आतिशी पारी खेलने वाले तूफानी ऑलराउंडर आगरकर, अब है कहां

एक मैच से इतना कमाती हैं आईपीएल की चीयरलीडर्स, जानें कौन सी टीम देती है इन्हें सबसे ज्यादा पैसा

ये है धोनी की भारी भरकम एसयूवी कार, महंगी बाइक्स का भी है कलेक्शन


21 गेंदों में 50 रन की आतिशी पारी खेलने वाले तूफानी ऑलराउंडर आगरकर, अब है कहां
एक मैच से इतना कमाती हैं आईपीएल की चीयरलीडर्स, जानें कौन सी टीम देती है इन्हें सबसे ज्यादा पैसा
ये है धोनी की भारी भरकम एसयूवी कार, महंगी बाइक्स का भी है कलेक्शन



Tags:                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran