क्रिकेट की दुनिया

क्रिकेट की हर हलचल पर गहरी नजर के साथ उसके विविध पक्षों को उकेरता ब्लॉग

503 Posts

588 comments

Cricket


Sort by:

घर के शेर बाहर हो रहे हैं ढेर

Posted On: 10 Dec, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

टीम में जगह पाना अब तो दूर की कौड़ी है

Posted On: 25 Nov, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

‘पर्सन ऑफ द मूमेंट’ बने सचिन

Posted On: 15 Nov, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

1 Comment

सचिन को नहीं ‘क्रिकेट’ को अंतिम विदाई !

Posted On: 14 Nov, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others sports mail में

3 Comments

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

क्रिकेट में सट्टा; देश पे बट्टा; नमकहरामों की व्यथा बात यह नहीं अजरुद्दीन ने रिशवत ली वो तो बहुत से मैच देख कर लगता था कि बहुत से खिलाडी बेटिंग करते हैं पर दुःख यह है कि अज़र ने नाकि रिशवत ली वर्ना भारतीयों को भी यह कहकर गाली दी कि मुझे मुस्लिम होने ही वजह से फंसाया जा रहा है. जिन भारतीयों ने अज़र को 10साल सर पर बैठा कर रखा उसने उन्हीं भारतीयों के सर पर अपनी गलतियों को छुपाने के लिए नाकी मुस्लिम धर्म का पत्ता खेला वर्ना भारतीयों के सर पर ही पेशाब कर दिया. यह तो बेशर्म भारतीय हैं जो ऐसे नमक हरमों को आज भी सम्मान देते हैं अगर पाकिस्तान में होते तो घर बार जलकर खुद मुसलमानों ने ही मार दिए होते. मुस्लिम कार्ड केवल अज़र ही नहीं हर वो मुस्लिम नेता या व्यक्ति खेलता है जब नमकहरामी करके फंसता है. फिल्म एक्टर तो आम इस लिस्ट में शामिल हैं. यह नहीं तो गद्दार कौन है भारतवासी जो इन्हें सम्मान देते हैं या जडेजा आवर अज़र जैसे लोग जो पैसों के लिए देश कि जनता का साथ नमकहरामी करते हैं. बेशर्म लोग

के द्वारा:

के द्वारा: rafe rafe

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:

जब तक बीसीसीई अध्यक्ष (नाम मात्र को कुर्सी से नीचे) श्री निवासन को निकाल बाहर नहीं किया जाता, तब तक मुम्बई पुलिस, जांच एजेंसीज न तो इनके दामाद का कुछ बिगाड़ सकेंगी न बिदु दारासिंह का ! बिन्दु दारासिंह एक एक्टर है और उसने अपने बचाव में गुरुनाथ मय्यपन को साथ मिला लिया ! ये मय्यपन अपने ससुर जी के ऊंचे कद के बल पर कूद रहा था और खूब फिक्सिंग कर रहा था, बीसीसीई सब देख रही थी लेकिन श्री निवासन के प्रभाव के आगे खून के आंसू पी रही थी ! अगर सरकार, और भारतीय क्रिकेट संगठन इमानदारी से खेल प्रेमियों के विश्वास को बनाए रखना है तो सबसे पहले श्री निवासन को संगठन से ही निष्कासित कर दिया जाना चाहिए, बिन्दु दारासिंह और गुरुनाथ मय्यपन को वापिस जेल में डाल दो, सारी सच्चाई बाहर आ जाएगी, और क्रिकेट के महासागर में गोता लगाने वाली भारी भरकम गंदी मच्छलियाँ तड़प तड़प कर अपने आप बाहर आजाएगी अफराधियों को सजा मिल जाएगी !

के द्वारा:

के द्वारा: rahulpriyadarshi rahulpriyadarshi

के द्वारा: D33P D33P




latest from jagran